ऑटोबायोग्राफी क्या है? | Autobiography (आत्मकथा) कैसे लिखें? पूरी जानकारी

दुनिया का हर व्यक्ति अपनी जिंदगी में कई तरह के उतार-चढ़ाव का सामना करता है और अपने जीवन में आने वाली हर परेशानी से लड़कर किसी अच्छे मुकाम तक पहुंचता है, ऐसे में वे अपनी जीवन की कहानी से दूसरों को प्रेरित करने के लिए अपनी खुद की आत्मकथा लिखता है जहां वे अपने जीवन के सभी इंसिडेंट और स्ट्रगल के बारे में बताता है। आज के अपने इस पोस्ट में हम आपको ऑटोबायोग्राफी क्या है | आत्मकथा कैसे लिखें के बारे में जानकारी देना जा रहे हैं।

ऑटोबायोग्राफी क्या है? | Autobiography (आत्मकथा) कैसे लिखें? पूरी जानकारी - 2022
ऑटोबायोग्राफी क्या है? | Autobiography (आत्मकथा) कैसे लिखें? पूरी जानकारी – 2022

ऑटोबायोग्राफी क्या है ?

जब कोई व्यक्ति अपने जीवन के हर एक पन्ने को बहुत ही खूबसूरत तरीके से एक कहानी के तौर पर खुद से लिखकर सभी के सामने पेश करता है तो वह ऑटो बायोग्राफी कहलाती है। आत्मकथा में लिखी हुई हर एक बात सचे फैक्ट से जुड़ी होती है।

ऑटो बायोग्राफी बहुत ही इंटरेस्टिंग तरीके से लिखी जानी चाहिए जिससे कि आप के जीवन से जुड़ी आत्मकथा को हर व्यक्ति पढ़ने की इच्छा रखें तब जाकर आप की लिखी हुई ऑटोबायोग्राफी सक्सेस होती है। अपनी आत्मकथा में व्यक्ति अपने जीवन से जुड़े हर एक पहलू, हर एक अचीवमेंट, कुछ अच्छे पल तो कुछ बुरे पल, कुछ यादें और बहुत सारे अनुभव को शेयर करता है।

आत्मकथा कैसे लिखें ?

जब कोई व्यक्ति आत्मकथा लिखने के बारे में विचार करता है तो सबसे पहले वह सोचता है कि आत्मकथा कैसे लिखें या क्या-क्या जरूरी बातें हैं जो हमें आत्मकथा लिखते वक्त ध्यान में रखनी चाहिए जिससे कि हम अपनी आत्मकथा को इंटरेस्टिंग तरीके से लोगों के सामने पेश कर सकें।

आत्मकथा लिखने के टिप्स

  • जीवन के अहम पल को एक जगह लिखें:- आत्मकथा को शुरू करने से पहले आप अपने जीवन के जो भी अहम पल है उसे एक जगह लिखकर नोट डाउन कर ले, यह स्टेप सबसे जरूरी होता है क्योंकि यहीं पर आप अपनी पूरी जिंदगी को प्लास्टपैक तरीके से देखते हैं और बचपन से लेकर बुढ़ापे तक के किस्से को अपनी आत्मकथा में डालने के लिए सोचते हैं।
  • अपनी आत्मकथा का मेन करेक्टर का चयन करें:- हर व्यक्ति की जिंदगी में परिवार वालों के अलावा भी कुछ खास लोग होते हैं जिन्हें वे अपनी जिंदगी का अहम हिस्सा मानते हैं, तो इसलिए अपनी कहानी के खास किरदारों को जरूर सुने। आत्मकथा में उस किरदार के बारे में जरूर जिक्र करें जो आपको सफलता तक पहुंचाया हो चाहे वह आपका दुश्मन ही क्यों ना हो।
  • अच्छी रणनीति बनाएं:- एक बार जब आप अपनी आत्मकथा के लिए खास किरदार को चुन लें तब आप लिखने से पहले एक अच्छी रणनीति बना लें कि किस तरह से आपको अपने जीवन के किस्सों को बताना है।
  • खुले विचार से लिखें:- आत्मकथा लिखने के लिए सबसे जरूरी है कि आपके विचार एकदम खुले हो आप फ्री होकर लिख सके कोशिश करें की आत्मकथा अपनी मात्र भाषा में लिखें क्योंकि वहां आप अपनी बातों को अच्छी तरह से एक्सप्रेस कर पाएंगे।
  • आत्मकथा लिखना शुरू करें:- अब आप आत्मकथा लिखने के लिए शुरुआत कर सकते हैं यदि आपको लिखने में किसी प्रकार की समस्या है तो आप किसी प्रोफेशनल राइटर की मदद ले सकते हैं।
  • ऑटोबायोग्राफी एडिट करें:- एक बार आप की आत्मकथा पूरी तरह से कंप्लीट हो जाए तो अपने द्वारा लिखी गई ऑटो बायोग्राफी को एडिट जरूर करें या किसी प्रोफेशनल लाइटर से करवाएं।
  • आत्मकथा का फीडबैक प्राप्त करें:- किताब पूरी होने के बाद अपने किसी दोस्त या किसी परिवार के खास सदस्य से किताब को पड़वा कर उसे फीडबैक प्राप्त करें और जो भी गलतियां हो उसमें सुधार करें।
  • ऑटो बायोग्राफी को फाइनल टच दे:- एक बार एडिट करवा लेने और फीडबैक प्राप्त कर लेने पर सभी बातों को ध्यान रखते हुए अपनी आत्मकथा को फाइनल टच दे कर कंप्लीट करें जिसके बाद आप की ऑटो बायोग्राफी पब्लिश होने के लिए तैयार होगी।

निष्कर्ष

आज के अपने इस पोस्ट में हमने आपको ऑटोबायोग्राफी क्या है? | Autobiography (आत्मकथा) कैसे लिखें के बारे में विस्तार से जानकारी दी है उम्मीद करते हैं आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया होगा।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *