Digital Rupee: RBI लॉन्च करेगी भारत की सरकारी डिजिटल करेंसी

Digital rupee: भारतीय रिजर्व बैंक ने बताया कि वह जल्द ही विशेष इस्तेमाल के लिए digital rupee को पायलट बेस पर लॉन्च करने वाला है।

Digital Rupee: RBI लॉन्च करेगी भारत की सरकारी डिजिटल करेंसी
Digital Rupee: RBI लॉन्च करेगी भारत की सरकारी डिजिटल करेंसी

RBI लॉन्च करेगी सरकारी डिजिटल करेंसी

भारतीय रिजर्व बैंक ने शुक्रवार 7 अक्टूबर 2022 को ऐलान किया कि बहुत जल्द ही भारत में Digital E-Rupee के पायलट प्रोजेक्ट को शुरू किया जाएगा। इसके साथ ही केंद्रीय बैंक ने डिजिटल रुपए से संबंधित चर्चा करने के लिए CBDC (सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी) पर एक कॉन्सेप्ट नोट भी जारी कर दिया है।

डिजिटल करेंसी के बारे में लोगों को सही तरीके से जागरूक किया जा सके इस उद्देश्य सरकार ने कॉन्सेप्ट नोट को जारी किया है, रिजर्व बैंक की तरफ से डिजिटल करेंसी की लॉन्चिंग के लिए तैयार किए जा रहे प्लान के बारे में भी बताया गया है, बैंक की तरफ से मिली जानकारी के अनुसार डिजिटल रुपए को पायलट बेस पर लॉन्च करने की योजना तैयार की है।

इसके साथ ही आरबीआई के चीफ जनरल मैनेजर योगेश दयाल ने डिजिटल करेंसी के संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि जैसे जैसे पायलट प्रोजेक्ट का स्कोप बढ़ेगा, वैसे ही आरबीआई डिजिटल करेंसी से जुड़े फायदे और फीचर्स बताएगी।

कैश रखने की जरूरत नहीं पड़ेगी

भारत में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की डिजिटल करेंसी आने के बाद किसी को भी जेब में कैश पैसे रखने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आरबीआई की डिजिटल करेंसी को आप अपने मोबाइल के वॉलेट में रख सकेंगे जिसके सरकुलेशन पर आरबीआई का नियंत्रण होगा। आपको ध्यान होगा कि जब इस वर्ष फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने वित्तीय बजट पेश किया था तो बताया था कि आरबीआई इसी वित्तीय वर्ष में ब्लॉकचेन तकनीक पर आधारित डिजिटल करेंसी सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी को पेश करेगा।

किन बैंकों में शुरू होगा पायलट प्रोजेक्ट

पायलट प्रोजेक्ट को लॉन्च करने के लिए देश के चार सरकारी बैंकों का चुनाव किया गया है जिसमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बरोड़ा, पंजाब नेशनल बैंक और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया का नाम शामिल है।

डिजिटल करेंसी के फायदे

भारत में डिजिटल करेंसी आज आने के बहुत से फायदे हैं जैसे कि हमें जेब में कैश रखने की जरूरत नहीं पड़ेगी साथ ही डिजिटल करेंसी को हम अपने फोन के वॉलेट में रखेंगे इसे फोन वॉलेट पर रखने पर हमें ब्याज भी मिलेगा। इसके संचालन में आ जाने से पेपर करेंसी का इस्तेमाल कम होगा और साथ ही डिजिटल करेंसी सीएसडीसी को हम बिना इंटरनेट के भी इस्तेमाल कर सकेंगे।

डिजिटल करेंसी के प्रकार

कॉन्सेप्ट नोट के आधार पर डिजिटल रुपए के इस्तेमाल और काम के लिए सीएसडीसी को दो व्यापक श्रेणियों में बांटा गया है।

  • सामान्य उद्देश्य (खुदरा) CBDC-Retail
  • थोक CBDC-Wholesalr

CBDC-Retail लेन देन हेत नकदी का एक इलेक्ट्रॉनिक संस्करण है जो कि गैर-वित्तीय उपभोक्ताओं, निजी क्षेत्र और व्यवसायों के इस्तेमाल के लिए मौजूद होगा। CBDC-Wholesalr खासतौर से कुछ चुनिंदा वित्तीय संगठनों के लिए ही मौजूद होगा।

Leave a Reply